Sunday, 17 November 2019, 6:54 PM

धर्म कर्म

हिन्दू देवता भगवान पवन देव

Updated on 17 November, 2019, 6:45
पवन देव वायु के एक हिन्दू देवता हैं और वे हनुमान एवं भीम के पिता हैं। वह स्वर्ग के देवता भगवान इंद्र द्वारा नियंत्रित किए जाते हैं। वह भगवान विष्णु के सच्चे भक्त हैं। त्रेतायुग में वह भगवान हनुमान के पिता थे, और उन्होंने भगवान श्रीराम की बहुत बड़ी सेवा की... आगे पढ़े

केदारनाथ मंदिर के पीछे की शिला का रहस्य बरकरार, नाम पड़ा भीम शिला

Updated on 17 November, 2019, 6:30
केदारनाथ में 16 जून 2013 को एक भीषण बाढ़ आई थी। जून में बारी बारिश के दौरान वहां बादल फटे थे और कहते हैं कि केदारनाथ मंदिर से 5 किलोमीटर ऊपर चौराबाड़ी ग्लेशियर के पास एक झील बन गई थी जिसके टूटने से उसका सारा पानी तेजी से नीचे आ... आगे पढ़े

रामलला के हनुमान बने वकील के पराशरण 

Updated on 17 November, 2019, 6:15
रामायण काल में जिस तरह हनुमान जी ने लंका पर विजय पाने में भगवान श्री राम का साथ देकर एक सच्चे साथी की भूमिका निभाई थी। उसी तरह राम जन्मभूमि विवाद में अपनी दमदार दलीलों के बल पर सुप्रीम कोर्ट में रामलला के पक्ष में फैसला कराने वाले वरिष्ठ वकील... आगे पढ़े

एकाग्रता की सीख अर्जुन से लें 

Updated on 14 November, 2019, 6:45
हमें शुरुआत से ही बार-बार ध्यान लगाकर काम करने की सीख दी जाती है पर वर्तमान में इस पर गौर किया जाए, तो ध्यान की कमी नजर आती है। एकाग्रता के संबंध में धनुर्धर अर्जुन से सीख लें। अर्जुन को अपने लक्ष्य के अतिरिक्त कुछ दिखाई नहीं देता था। जब मन... आगे पढ़े

आध्यात्मिक जीवन से होता है दैवीय गुणों का विकास  

Updated on 14 November, 2019, 6:30
दैवीय गुणों का विकास करने के लिए आध्यात्मिक जीवन के अभ्यासी बनें क्योंकि इस जीवनशैली में स्वाभाविक रूप से जीवन की सिद्धि, सफलताएं, समाधान और कल्याण के सूत्र मौजूद हैं। इसमें क्षमाशीलताएं, विनय और परमार्थ जैसे अनेक सद‌्गुणों का स्थायी वास रहता है। जन्म, जरा और मृत्यु भौतिक शरीर को... आगे पढ़े

इस मंदिर में प्रवेश के लिए पुरुषों को धरना पड़ता है स्त्री का वेश  

Updated on 14 November, 2019, 6:15
सनातन धर्म में तीर्थ-स्थानों में पूजा-पाठ को लेकर कई तरह के नियम और परंपराएं हैं जिनका पालन सदियों से हो रहा है। इसी के तहत देश के कुछ मंदिरों में जहां महिलाओं का प्रवेश वर्जित है, वहीं केरल में एक ऐसा मंदिर है जिसमें पुरुषों को प्रवेश की अनुमति नहीं... आगे पढ़े

अनं‍‍त सुख और धन-वैभव चाहिए तो आजमाएं बुधवार के 9 सरल उपाय

Updated on 13 November, 2019, 6:30
हिन्दू धर्म में बुधवार का दिन भगवान श्री गणेश को समर्पित है। गणेशजी सभी देवता में प्रिय देता है। अत: बुधवार के दिन गणेश जी का पूजन-अर्चन करने से अनं‍‍त सुख और अपार धन-वैभव की प्राप्ति होती है। इस दिन बुध ग्रह का पूजन करना भी बहुत ही लाभदायी माना गया... आगे पढ़े

भैरव अष्टमी 2019 : काल भैरव जी के 108 नाम, बदल देंगे आपका भाग्य

Updated on 12 November, 2019, 22:17
काल भैरव को काशी का कोतवाल माना जाता है। भैरव जी के 108 नामों को प्रतिदिन, रविवार या शनिवार को पढ़ना चाहिए, साथ ही भैरव जी को सरसों के तेल का दीप व लड्डू अर्पण करना चाहिए। इनका वाहन कुत्ता माना जाता है, अत: कुत्ते को दूध आदि पिलाते रहना... आगे पढ़े

कार्तिक पूर्णिमा 2019: भरणी नक्षत्र में स्नान आज, लाखों श्रद्धालु लगा रहे डुबकी

Updated on 12 November, 2019, 10:20
कार्तिक शुक्ल पक्ष की पूर्णिमा का स्नान आज है। गंगा में डुबकी लगाने के लिए देश के कईं जगहों से श्रद्धालु धर्मनगरी पहुंचे हैं। यह स्नान वर्ष का अंतिम स्नान पर्व है। इस बार कार्तिक पूर्णिमा का स्नान मुसल योग और भरणी नक्षत्र में हो रहा है। कार्तिक पूर्णिमा पर गंगा स्नान... आगे पढ़े

जब भगवान विष्णु ने चढ़ा दी अपनी आंखें शिव जी को

Updated on 11 November, 2019, 6:15
प्राचीन मतानुसार एक बार भगवान विष्णु देवाधिदेव महादेव का पूजन करने के लिए काशी आए। वहां मणिकर्णिका घाट पर स्नान करके उन्होंने एक हज़ार स्वर्ण कमल पुष्पों से भगवान विश्वनाथ के पूजन का संकल्प किया। अभिषेक के बाद जब वे पूजन करने लगे तो शिवजी ने उनकी भक्ति की परीक्षा के... आगे पढ़े

रावण ने कैलाश पर्वत को उठा लिया फिर धनुष क्यों नहीं उठा पाया और राम ने कैसे धनुष तोड़ दिया?

Updated on 10 November, 2019, 6:45
अक्सर लोगों के मन में यह सवाल आता है कि जब रावण कैलाश पर्वत उठा सकता है तो शिव का धनुष कैसे नहीं उठा पाया और भगवान राम ने कैसे उस धनुष को उठाकर तोड़ दिया? आओ इस सवाल का जवाब जानते हैं। ऐसा था धनुष : भगवान शिव का धनुष... आगे पढ़े

कौन है काल भैरव, उनकी उपासना से क्या मिलता है फल, जानिए 10 विशेष बातें...

Updated on 9 November, 2019, 6:30
जो व्यक्ति भैरव जयंती को अथवा किसी भी मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को भैरव का व्रत रखता है, पूजन या उनकी उपासना करता है वह समस्त कष्टों से मुक्त हो जाता है। भगवान काल भैरव अपने भक्तों के कष्टों को दूर कर बल, बुद्धि, तेज, यश, धन तथा... आगे पढ़े

गुरुनानक जयंती 2019 : सिख धर्म के 5 प्रमुख तख्त, जानिए

Updated on 9 November, 2019, 6:15
सिख धर्म के 10 गुरु हुए हैं प्रथम गुरु गुरुनानक देवजी और अंतिम गुरु गुरु गोविंद सिंह जी थे। सिख धर्म ने देश और धर्म की रक्षार्थ अपने प्राणों की आहुति देकर इस देख की आक्रांताओं से रक्षा की है। इसी क्रम ने उन्होंने पांच तख्तों को स्थापित किया था।... आगे पढ़े

सुख, समृद्धि के लिए हैं अलग-अलग मान्यताएं  

Updated on 8 November, 2019, 6:30
सभी अपने घर में सुख, समृद्धि और शांति चाहते हैं। इसके लिए हर कोई अनोखे तरह की चीजें अपने घर में रखता है, जिन्हें हम लकी चार्म कहते हैं। जिस प्रकार चीनी मान्यता में लाभ के लिए फेंगशुई आईटम रखे जाते हैं जिन चान को मनी टोड के नाम से... आगे पढ़े

भगवान श‍िव की पूजा से पूरी होती हैं मनोकामनाएं  

Updated on 7 November, 2019, 6:45
सोमवार का द‍िन भगवान श‍िव की पूजा के लि‍ए खास माना जाता है। कहते हैं क‍ि इस द‍िन श‍िव जी बहुत जल्‍द खुश होते हैं। इस द‍िन ऐसे करें पूजा व इन बातों का रखें ध्‍यान। सोमवार का द‍िन है खास हिंदू शास्‍त्रों में सोमवार का द‍िन मुख्‍य रूप से भगवान श‍िव... आगे पढ़े

इन कामों से मिलता है स्वर्ग  

Updated on 7 November, 2019, 6:30
आधुनिक जीवन में सफलता का अर्थ पैसों और सुख-सुविधा की चीजों से जुड़ा हुआ है। आप जितना भी धन कमा लेंगे दुनिया आपको उतना ही कामयाबी कहेगी, अंधाधुध पैसे कमाने की होड़ में कोई व्यक्ति ये नहीं सोचता कि उससे भौतिक दुनिया की सुख-सुविधा कमाने के कारण कितने पाप हो... आगे पढ़े

घड़ी भी तय करती है भविष्य 

Updated on 7 November, 2019, 6:30
जीवन में समय सबसे बड़ा बलवान माना जाता है। मनुष्य हमेशा समय के साथ चलता है, अगर वह नहीं चला तो पीछे रह जाएगा। समय अच्छा हो या बुरा वह हर किसी के जीवन में आता-जाता रहता है। जो समय एक बार चला जाए तो वह जीवन में कभी वापस... आगे पढ़े

सहस्रबाहु अर्जुन ने लिया था दो लोगों से पंगा, एक से जीते और दूसरे से मोक्ष गए

Updated on 4 November, 2019, 6:15
प्रतिवर्ष कार्तिक मास की शुक्ल पक्ष की सप्तमी तिथि को सहस्रबाहु जयंती मनाई जाती है। कार्तवीर्य अर्जुन के हैहयाधिपति, सहस्रार्जुन, दषग्रीविजयी, सुदशेन, चक्रावतार, सप्तद्रवीपाधि, कृतवीर्यनंदन, राजेश्वर आदि कई नाम होने का वर्णन मिलता है। सहस्रबाहु अर्जुन ने अपने जीवन में यूं तो बहुतों से युद्ध लड़े लेकिन उनमें दो लोग... आगे पढ़े

गाय के संबंध में क्या कहते हैं प्रसिद्ध और महान लोग, जानिए

Updated on 3 November, 2019, 6:45
भारत में गाय को पूज्जनीय माना जाता है। गाय के संबंध में दुनिया के प्रसिद्ध और महान लोग क्या कहते हैं आओ एक नजर इस पर डालते हैं। * भगवान कृष्ण ने श्रीमद् भगवद्भीता में कहा है- ‘धेनुनामस्मि कामधेनु’ अर्थात मैं गायों में कामधेनु हूं। * ईसा मसीह ने कहा था- एक... आगे पढ़े

भगवान बुद्ध और महावीर स्वामी की नगरी वैशाली

Updated on 3 November, 2019, 6:15
बिहार में एक जिला है जिसका नाम वैशाली है। विश्‍व को सर्वप्रथम गणतंत्र का पाठ पढ़ने वाला स्‍थान वैशाली ही है। आज वैश्विक स्‍तर पर जिस लोकतंत्र को अपनाया जा रहा है वह यहां के लिच्छवी शासकों की ही देन है। लगभग छठी शताब्दी ईसा पूर्व नेपाल की तराई से... आगे पढ़े

माणिक्य पहनने से पहले रखें ये सावधानियां  

Updated on 1 November, 2019, 6:30
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार माणिक्य रत्न सूर्य का प्रतिनिधित्व करता है। कहा जाता है कि जिस किसी की कुंडली में सूर्य शुभ प्रभाव में होता है उसे माणिक्य रत्न धारण करना चाहिए। इसे धारण करने से सूर्य की पीड़ा शांत होती है। यह रत्न व्यक्ति को मान-सम्मान, पद की प्राप्ति... आगे पढ़े

शुभ कार्यों में होता है पीले रंग का उपयोग  

Updated on 1 November, 2019, 6:15
अक्सर लोग शुभ कार्यों में पीले रंग के वस्त्र धारण करते हैं। ज्योतिष में भी पीले रंग को खास महत्व दिया गया है। पीले रंग का संबंध गुरु बृहस्पति से भी माना गया है। यह सूर्य के चमकदार हिस्से वाला रंग है। यह मुख्य रंगों का हिस्सा है और यह... आगे पढ़े

बच्चों से दान कराने से घर में आती है समृद्धि, ये उपाय करेंगे आपके जीवन से दुर्भाग्य को दूर

Updated on 29 October, 2019, 6:30
कड़ी मेहनत के बाद भी सफलता नहीं मिल रही हो तो इसका कारण दुर्भाग्य या हमारे आसपास मौजूद नकारात्मक ऊर्जा हो सकती है। नकारात्मक ऊर्जा दूर करने के लिए बच्चों से दान कराएं। इससे घर में समृद्धि आएगी। सफलता के लिए मेहनत जितनी जरूरी है उतना ही भाग्य का साथ मिलना... आगे पढ़े

यहां मिली भगवान विष्णु के वराह और नरसिंह अवतार की दुर्लभ मूर्तियां

Updated on 29 October, 2019, 6:15
उत्तराखंड के अल्मोड़ा में सूरे गांव के एक नौले के सर्वेक्षण के दौरान एक मंदिर में भगवान विष्णु की दो दुर्लभ मूर्तियां मिली हैं। यह मूर्तियां विष्णु के वराह और नरसिंह अवतार की बताई जा रही हैं। दिल्ली विश्वविद्यालय के पूर्व एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. मोहन चंद्र तिवारी ने सूरे में यह... आगे पढ़े

दीपावली-अभिनंदनम् 

Updated on 26 October, 2019, 7:45
दीपक ने फिर नग़मे गाये,उजियारा हर्षाया । रोशनियों के दिन आये हैं,अँधियारा घबराया ।। समाचार खुशियों के फैले सूरज हरकारा है  अपनेपन औ' नेह-प्रीति का अब  तो जयकारा है आतिशबाज़ी ने हौले से,सबका साथ निभाया । झंझावातों में जलकर भी,दीपक है मुस्काया ।। माहिष्मती में धूम मची है हर इक है उल्लासित गली-मोहल्ला/सारी बस्ती आज हुये आह्लादित महल,झोंपड़ी चहक रहे सब,सबने मंगल... आगे पढ़े

 क्यों कहते हैं विष्णु भगवान को नारायण 

Updated on 26 October, 2019, 6:00
भगवान विष्णु के हजारों नाम हैं। इनमें एक प्रमुख नाम है नारायण। फिल्मों, टीवी सीरियल या रामलीला में आपने देखा होगा कि नारद मुनि भगवान विष्णु को नारायण नाम से पुकारते हैं। इस नाम का धार्मिक रूप से बड़ा महत्व है। इस एक नाम में सृष्टि का संपूर्ण सार छिपा... आगे पढ़े

गायत्री मंत्र का करें पाठ  

Updated on 24 October, 2019, 6:45
गायत्री मंत्र का उच्‍चारण करने से व्‍यक्ति के जीवन में खुशियों का संचार होता है। इस मंत्र का जाप करने से शरीर निरोग बनता है और इंसान को यश, प्रसिद्धि और धन की प्राप्ति भी होती है। हिन्दू धर्म में गायत्री मंत्र को विशेष मान्यता प्राप्त है। कई शोधों द्वारा... आगे पढ़े

इस प्रकार करें मां लक्ष्मी को खुश 

Updated on 24 October, 2019, 6:30
धन की देवी मां लक्ष्मी की कृपा पाने से ही हमें सभी सुख और वैभव मिलते हैं। दिपावली के दिन मां लक्ष्मी को प्रसन्न करने का सबसे बेहतर योग होता है। इस समय किये गये इन उपायों से आप मां लक्ष्मी को खुश कर सकते हैं। इससे आप जीवन में... आगे पढ़े

धन त्रयोदशी पर यमराज का आशीष मिलेगा इन 3 सरल उपायों से

Updated on 23 October, 2019, 6:15
धनतेरस पर सबसे पहले घर के प्रमुख द्वार की देहरी पर कोई भी अन्न (साबूत गेहूं या चावल आदि) की ढेरी बनाकर/बिछाकर रखें।फिर उस पर एक अखंड दीपक रखें। मान्यता है कि इस प्रकार दीपदान करने से यम देवता के पाश और नरक से मुक्ति मिलती है। यदि आप पूरा उपक्रम... आगे पढ़े

दिवाली पर्व पर श्री लक्ष्मी जी के साथ श्री गणेश जी का ही पूजन क्यों होता है, श्री राम जी का क्यों नह

Updated on 22 October, 2019, 18:18
लक्ष्मी जी, गणेश जी का पूजन एक साथ क्यों होता हैं? आईये जानें  दिवालीभगवान श्री राम के अयोध्या लौटने के शुभ अवसर के रुप में मनायी जातीहै, हालाँकि इस शुभ दिन देवी लक्ष्मी और भगवान गणेश का हर घर में स्वागत किया जाता है। देवी महालक्ष्मी के रूपों की पूजा करना... आगे पढ़े